रसिया ने सुखोई Su-57 5th जनरेशन के स्टील्थ फाइटरप्लेन का बड़े पैमाने पर उत्पादन शुरू किया है। सुखोई एयरक्राफ्ट कंपनी जो रूस के यूनाइटेड एयरक्राफ्ट कॉरपोरेशन का एक हिस्सा है, अपनी 80 वीं वर्षगांठ पर एक सूची जारी की जिसमें पता चला कि रक्षा मंत्रालय के साथ 70 से अधिक सिंगल-सीट, ट्विन-इंजन मल्टीरोल Su-57 जेट के लिए एक अनुबंध पर हस्ताक्षर किए गए हैं। रूसी लड़ाकू विमानों में केवल यहीं 5 वीं पीढ़ी का लड़ाकू विमान है,जो एफ -22 रैप्टर और एफ -35 लाइटनिंग II जेट के बराबर है अथवा टक्कर का है ऐसा माना जा सकता है।

रूसी एयरोस्पेस फोर्स ने 76 Su-57 विमानों का आर्डर अपने सेना के लिए दिया है जिसे 2019 के अंत से पहले पहला विमान मिलने की संभावना। Su-57 जिसने पहली बार 29 जनवरी 2010 में उड़ान भरी थी और जबकि पहले ही सीरिया के युद्ध की परिस्थितियों में परीक्षण किया है।

रूस की सैन्य और तकनीकी सहयोग (FSMTC) के उप निदेशक व्लादिमीर Drozhzhov ने भारतीय वायु सेना के साथ मिलकर बनाने की पेशकश की हालांकि भारत ने पहले ही इस डील में शामिल होने मना कर चुका है और बोला कि जब रुस Su-57 बना कर अपने सेना में शामिल कर लेगा फिर उसके बाद हम सीधे तौर पर खरीदने का विचार करेंगे। भारत का मानना है कि इस परियोजना शामिल होकर न तो हमें कोई टेक्नोलॉजी मिल रही थी ना कोई अडवांस रडार नेटवर्क साथ ही इसकी लागत भी काफी ज्यादा पड़ रही थी।

यहां तक ​​कि भारतीय वायु सेना के एयर चीफ मार्शल बीरेंद्र सिंह धनोआ ने अपनी 9-12 जुलाई की यात्रा के दौरान रूस के सैन्य अखबार क्रास्नाया ज़ेव्ज़दा से कहा था कि भारत Su-57 पर तभी काल लेगा जब एक वह रुसी वायु सेना में उड़ान भरना शुरू कर देगा। नवंबर 2019 दुबई एयर शो के दौरान रूस आधिकारिक तौर पर Su-57 के निर्यात संस्करण का अनावरण करेगा। जिसे Su-57 E (एक्सपोर्ट) फाइटर कहा जाएगा।

दूसरी ओर F-22 और F-35 पहले से ही अमेरिकी वायु सेना के सेवा में हैं और यूनाइटेड किंगडम, इटली, नीदरलैंड, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, डेनमार्क, नॉर्वे, बेल्जियम, जापान, दक्षिण कोरिया, इजरायल और सिंगापुर सहित कई अमेरिका के करीबी सहयोगी एफ -35 का संचालन पहले से ही करते हैं।

इसका मतलब साफ है कि पहले आप Su-57 स्टेल्थ फाइटर प्लेन का क्षमता दिखाये फिर लेने की बात करेंगे।

Should India now buy a fifth generation Su-57 stealth fighter plane? Russia started production


0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *